Hindi News and Blogs

News, news in hindi, news 24, news headlines in hindi

352 Posts

43 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 2479 postid : 1139

राष्ट्रपति की मुहर के बाद अब रेप दोषियों को मिल सकेगी मौत

Posted On: 4 Feb, 2013 न्यूज़ बर्थ में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

महिलाओं के यौन उत्पीड़न और दुष्कर्म के कानून को सख्त बनाने वाले अध्यादेश पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के दस्तखत हो जाने के बाद से यह पूरे देश में तत्काल प्रभाव से लागू हो गया है। हालांकि इसे लिए सरकार को छह माह के अंदर संसद से पास करवाना होगा। राष्ट्रपति ने इस अध्यादेश पर रविवार को हस्ताक्षर किए। इसके साथ ही दुष्कर्मी हत्यारों को मौत की सजा देने का प्रावधान कानून में शामिल हो गया है।


अध्यादेश लागू होने के बाद दुष्कर्म और हत्या या पीड़िता को मरणासन्न स्थिति (कोमा) में पहुंचाने वाला अपराधी कुछ वर्ष जेल काट कर बाहर नहीं घूम पाएगा अब या तो उसे मौत की सजा मिलेगी या फिर वह मौत तक जेल की सलाखों के पीछे ही रहेगा।


गौरतलब है कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने शुक्रवार को महिलाओं के प्रति अत्याचार रोकने की जस्टिस वर्मा समिति की सिफारिशों पर अध्यादेश लाने का फैसला किया था। हालांकि, समिति की सिफारिशें पूरी तरह न माने जाने पर विभिन्न महिला संगठनों ने अध्यादेश का विरोध किया था। अध्यादेश पर राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के बाद यह पूरे देश में लागू हो गया है, लेकिन छह माह के भीतर सरकार को इस अध्यादेश को संसद से पास कराना होगा। संसद का सत्र 21 फरवरी से शुरू हो रहा है।

Read: अब बेटे विदा होकर आएंगे ससुराल

Read:गैंगरेप: बदलेगा कानून, दोषियों को होगी फांसी या ताउम्र कैद!


********************************************************


फर्जी जाति प्रमाण पत्रों से आईएएस बने तीन भाई


तीन आईएएस अधिकारियों पर फर्जी जाति प्रमाण-पत्र से नौकरी पाने के आरोप लगे हैं। इनमें से एक राजस्थान, दूसरा दिल्ली और तीसरा बिहार कैडर में है। सामाजिक कार्यकर्ता तौहीद हुसैन और वकील मधुसुदन शर्मा ने तीनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया है।


तौहीद हुसैन एवं मधुसुदन शर्मा ने कहा कि राजस्थान सरकार के सामान्य प्रशासन विभाग में अतिरिक्त मुख्य सचिव चंद्रमोहन मीणा, जय रामलाल मीणा और प्रभुदयाल मीणा तीनों सगे भाई है। तीनों भाइयों का 1980 के बैच में एक साथ आइएएस में चयन हुआ। तीनों भाइयों के जाति प्रमाण-पत्र फर्जी हैं क्योंकि उनपर जारी करने वाली अथॉरिटी की सील और हस्ताक्षर नहीं है। जयराम लाल मीणा अभी बिहार में और प्रभुदयाल मीणा दिल्ली में तैनात हैं। हुसैन ने तीनों भाइयों के 1979 में यूपीएससी में भरे गए फार्मो की कॉपी और आरटीआई से निकलवाए गए दस्तावेज पेश किए। उन्होंने कहा कि यूपीएससी के फार्म में चंद्रमोहन मीणा की जन्मतिथि 11 अप्रैल 1954 और जयराम लाल मीणा की जन्मतिथि 23 अप्रैल 1954 लिखी है।


राजस्थान के सामान्य प्रशासन विभाग में प्रमुख सचिव चंद्रमोहन मीणा ने कहा कि आरोप बेबुनियाद हैं। 1979 में जिस समय यूपीएससी का फार्म भरा था, उस समय फोटोकॉपी होती नहीं थी। इसलिए असली जाति प्रमाण-पत्र के साथ जारीकर्ता से एसडी करवाकर दूसरा प्रमाण-पत्र लिया जाता था, वही फार्म के साथ है। जाति प्रमाण-पत्र की मूल प्रति मेरे पास है, जिसमें जारीकर्ता की सील और हस्ताक्षर हैं। जहां तक मेरे और रामलाल की उम्र का सवाल है तो हमारी मां अलग-अलग हैं, इसलिए 12 दिन का अंतर हो सकता है।

Read: 20 से 65 लाख तक की गाड़ियों से चलते हैं बाबा


********************************************************


महाकुंभ: मंदिर पीछे, मोदी आगे


विश्व हिंदू परिषद के धर्म संसद में इस बार एजेंडा भले ही अयोध्या के राममंदिर के इर्द-गिर्द घूम रहा हो, लेकिन गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी इन सब पर भारी हैं। मंदिर से अधिक मोदी की चर्चा हो रही है। हालांकि यह स्पष्ट करने को कोई तैयार नहीं है कि उनका आना तय ही है। इस बीच, अशोक सिंहल ने यह कहकर कि संत चाहते हैं कि मोदी इस देश के प्रधानमंत्री हों, इस मामले को और हवा दे दी है।


भाजपा की एक लॉबी मोदी को प्रधानमंत्री के लिए प्रस्तुत करने के लिए पहले ही लॉबिंग कर रही है। कुंभक्षेत्र स्थित संत-महात्माओं के शिविर में विहिप कार्यकर्ताओं के बीच राम मंदिर मुद्दे के साथ नरेंद्र मोदी का नाम चर्चा में है। इस मुद्दे पर विहिप को संतों का व्यापक समर्थन मिल रहा है। जो बात दबी जुबां से होती थी, अब वही खुलकर होने लगी है। हालांकि इसका आशय यह नहीं है कि मंदिर मुद्दे पर विचार नहीं होगा। अयोध्या से आए विहिप के प्रदेश प्रवक्ता शरद शर्मा कहते हैं कि हमारा एजेंडा पहले से ही तय है। इसमें हिंदुत्व, धर्मातरण, राम मंदिर के साथ गाय और गंगा शामिल है। संत सम्मेलन में इन मुद्दों पर प्रमुखता से विचार होगा।

Read:कानून का मजाक बना दिया इस नाबालिग ने


*****************************************************


इन 8 खिलाडि़यों ने सबको चौंका दिया आईपीएल नीलामी में


रविवार को हुई आईपीएल नीलामी में महज कुछ घंटों में ही 11.89 मिलियन डॉलर खिलाडि़यों पर लुटा दिए गए। कल हुई इस नीलामी में सिर्फ 37 खिलाड़ी ही नीलाम हुए। इसके बाद के खिलाडि़यों पर किसी ने ध्यान नहीं दिया। जहां तक रही बात सबसे महंगे साबित होने की तो वे रहे ऑस्ट्रेलिया के ग्लेन मैक्सवेल, जिन्हें मुंबई इंडियंस ने 1000000 डॉलर में खरीदा। इनके अलावा कई और खिलाडि़यों ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान माइकल क्लार्क और पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग को भी पीछे छोड़ दिया। गौरतलब है कि इन दोनों ऑस्ट्रेलियाई खिलाडि़यों की बेस प्राइस सबसे अधिक 400000 डॉलर थी और ये इतने पर ही बिके, लेकिन कई खिलाडि़यों की काफी ऊंची बोली लगी।


Read:फास्ट ट्रैक कोर्ट का पहला इंसाफ, दुष्कर्मी को दी फांसी

शहरीकरण की चुनौतियां



Tag:Pranab Mukheree, President, rape law, Ordinance on sexual crimes, capital punishment for rapist,IAS get job on fake papers, IAS, Fake Certificate, rajasthan cadre IAS officer, kumbh 2013, narendra modi, prime minister candidate, BJP, BHP, ashok singhal, loksabha election 2014, ipl auction 2013, ipl, Abhishek Nayar, Glenn Maxwell, Ricky Ponting, Michael Clarke, यौन उत्पीड़न , महिला, आईएएस, आईपीएल



Tags:                                                     

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran